Articles
"व्यक्तिगत न ले......पर चितंन जरूर करे।"
"आज के युवाओ को सुखी वैवाहिक जीवन के लिए एक सलाह"
अपने बच्चो की शादी के वक़्त कुंडली मिलान के नखरे छोड़िए।
क्या आप अपने विवाहयोग्य लड़के-लड़की के लिए जीवनसाथी की तलाश में है ??
रिश्ता करने में जल्दबाज़ी ना करे.....
जो आनंद और सुख संयुक्त परिवार में है वो एकल परिवार में कहा ?
क्या है रिश्तों में सम्मान का अर्थ......
परिवर्तन संसार का नियम है।
अपने दामाद से सद्व्यवहार करो बेटी को सद्व्यवहार मिलेगा।
पति पत्नी के विवाद शयन कक्ष में निपट सकते है।
यही जिंदगी का असली आनंद है।
"करोड़पति या वेलसेटल वर की तलाश"
आजकल "मोबाइल और चैटिंग" के कारण सगाई के बाद रिश्ते टूट रहे है??
तुम्हारी इज्जत ससुराल में है,तुम्हारे मायके की इज्जत तुम्हारी भाभी है।
मायके में बाकि सब कुछ था, साजन तेरा प्यार नहीं था।
लड़का हो या लड़की समय पर उनकी शादी कर उनका जीवन सुखी करे।
"युवावस्था में पत्नी की इज्जत करो.....बुढ़ापा सुधर जायेगा।"
पति पत्नी का रिश्ता एक दोस्त जैसा होना चाहिए।
शादी के बाद नवदम्पति को एक दूसरे को समझने में वक़्त देना चाहिए।
वृद्ध माता पिता के बुढ़ापे में असली सहारा एक अच्छी बहु ही होती है ना की बेटा